किसान के खेत में मिली सूर्य की खंडित प्रतिमा




कुशीनगर के तमकुही ब्लाक के ग्राम छहूं में एक किसान के खेत से मिट्टी निकलवाते समय शनिवार को एक खंडित प्रतिमा मिली। लोगों ने प्रतिमा की साफ-सफाई कराकर उसे बगल के मंदिर परिसर में रखवा दिया है। लोग इस प्रतिमा को सूर्य प्रतिमा बता रहे हैं।

शनिवार को दोपहर में छहूं गांव में स्थित शिव मंदिर से करीब 50 मीटर दूर रामअवध दूबे अपने खेत में मिट्टी निकलवा रहे थे। इसी दौरान मजदूरों का फावड़ा किसी सख्त चीज से टकराया। इस स्थल की खुदाई कराने पर वहां एक सिर विहीन प्रतिमा मिली। प्रतिमा एक ही पत्थर पर उकेरी गई प्रतीत हो रही है। उसे धो-पोंछकर देखने पर वह सूर्य प्रतिमा जैसी दिखी।

प्रतिमा पर सात घोड़ों के चिह्न के साथ कई अन्य देवी-देवताओं का चित्र भी उकेरा गया है। जानकारों का कहना है कि मूर्ति प्रथम दृष्टया गुप्तकालीन प्रतीत हो रही है। गांव के केदार ओझा, कन्हैया यादव, चुन्नू दुबे, संजय ओझा, भरत सिंह आदि ने खंडित प्रतिमा को उठाकर बगल स्थित शिव मंदिर परिसर में रख दिया है। यहां मूर्ति को देखने के लिए लोगों की भीड़ लगी हुई है। इस संबंध में पुरातत्व के जानकार महावीर प्रसाद कंदोई ने कहा कि पूरे क्षेत्र के टीलों में इतिहास के रहस्य छिपे हैं। इसको संरक्षित किये जाने की आवश्यकता है।
What do you say ?

Post a Comment

About Author

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.